अभी अभी : बिहार में पटना जा रही ट्रेन रास्ते में सभी बोगी को छोड़कर आगे निकला इंजन।


रेलवे की लापरवाही से मंगलवार को एकबार फिर बड़ा हादसा होते-होते बच गया। मनकट्ठा स्टेशन के पास धनबाद-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस का इंजन बोगियों से अलग होकर आगे बढ़ गया। हालांकि पांच किलोमीटर आगे डुमरी हॉल्ट के पास ड्राइवर को इस बात की जानकारी हुई। इस दौरान करीब एक घंटे तक ट्रेन मनकट्ठा में खड़ी रही। रेलवे अधिकारी के मुताबिक इंजन का कपलिंग खुल गया होगा या फिर कपलिंग टूट गया होगा जिस वजह से इंजन बोगियों से अलग हो गया।

Advertisements

जानकारी के मुताबिक 13331 अप धनबाद-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस मंगलवार की दोपहर 2.38 बजे लखीसराय स्टेशन से खुली। ट्रेन में दो इंजन लगा था। पांच मिनट बाद ट्रेन मनकट्ठा स्टेशन से गुजर रही थी, तभी सबसे आगेवाला इंजन बोगियों से अलग हो गया और आगे बढ़ता चला गया। मनकट्ठा स्टेशन पर इस ट्रेन का स्टॉपेज नहीं है। मनकट्ठा के पास इंटरसिटी की सभी 25 बोगियों के अलावा अतिरिक्त इंजन रूका रहा। डुमरी से इंजन को वापस लौटाया गया। मनकट्ठा में इंजन को शंटिंग लाइन में डाल दिया गया। करीब 3:40 बजे इंटरसिटी में पहले से लगे अतिरिक्त इंजन के सहारे ट्रेन पटना के लिए खुली। अधिकारी के अनुसार घटना के कारणों को जानने के लिए इंजन की जांच करायी जाएगी, इसलिए शंटिंग में इंजन को रखा गया है।

Advertisements

दुर्घटना से बचने के लिए निकला इंजन
ट्रैफिक प्रारंभिक जांच में इस बात का पता नहीं चल पाया है कि कपलिंग खुला था या टूटा है। ट्रैफिक इंस्पेक्टर विकास कुमार चौरसिया के मुताबिक इस बात की जांच करायी जाएगी। हालांकि आशंका इस बात की भी जतायी जा रही है कि शायद कपलिंग ठीक से लगा ही न हो। वहीं इंजन के करीब पांच किलोमीटर आगे बढ़ जाने के सवाल पर ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने बताया कि दुर्घटना से बचने के लिए इंजन काफी आगे निकला। नियमत: इंजन खुलने के बाद जबतक ड्राइवर को इस बात की पूरी जानकारी नहीं मिल जाती है कि सभी बोगियां रूक गई हैं, तबतक वे इंजन को नहीं रोक सकता। ऐसा करने पर इंजन के साथ बोगियों के टकराने की आशंका बनी रहती है।


Like it? Share with your friends!

1

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अभी अभी : बिहार में पटना जा रही ट्रेन रास्ते में सभी बोगी को छोड़कर आगे निकला इंजन।

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in
Bitnami