काश्मीर में अमित शाह 15 अगस्त को फहराएंगे झंडा, लेकिन पाक की इस ना’पाक हर’कत तो देखिये


राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल पिछले सप्ताह से ही राज्य में सुरक्षा के हालातों का जायजा लेने के लिए कैंपनिंग कर रहे हैं। साथ ही ऐसी योजना है कि वह स्वतंत्रता दिवस पर किसी तरह की अनहोनी की आशंका को ध्यान में रखते हुए 15 अगस्त तक घाटी में ही रहेंगे। बीते सप्ताह भर से घाटी में सुरक्षा का कमान संभाल रहे अजीत डोभाल 15 अगस्त तक घाटी में ही रहेंगे और सुरक्षा एजेंसियों के बीच समन्वय स्थापित करते रहेंगे।

Advertisements

 

ऐसी खबर है कि 15 अगस्त को पाकिस्तान घाटी में अशांति फैलाने के लिए कुछ नापाक साजिश कर रहा है। यही वजह है कि अजीत डोभाल 15 अगस्त तक घाटी में डेरा डाले रहेंगे ताकि पाकिस्तान की किसी तरह की नापाक योजनाओं को ध्वस्त किया जा सके। माना जा रहा है कि मोदी सरकार ने घाटी में ईद और 15 अगस्त जैसे दो अहम मौकों को ध्यान में रखकर ही अजीत डोभाल को घाटी में तैनात किया है। इसके अलावा, अजीत डोभाल के कई ऐसे वीडियो आए हैं, जिसमें उन्हें न सिर्फ सुरक्षा बलों के साथ बातचीत करते देखा गया है, बल्कि वह आम नागरिकों को भी आश्वस्त करते दिखे हैं।

Advertisements

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। उसकी बौखलाहट लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर भी देखने को मिल रही है। खबर है कि पाकिस्तानी सेना एलओसी की ओर बढ़ रही है और लद्दाख के सामने अपने एयरबेस पर लड़ाकू विमानों को तैनात कर रही है। अब इसे लेकर थल सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने बयान दिया है। उन्होंने कहा ‘यदि वे एलओसी को सक्रिय करना चाहते हैं तो उन पर निर्भर करता है। एहतियात के तौर पर हर कोई तैनाती करता है, हमें इसके बारे में बहुत ज्यादा चिंतित नहीं होना चाहिए। जहां तक ​​सेना और अन्य सेवाओं का सवाल है तो हमें हमेशा तैयार रहना होगा।’

 

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के हालात पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि हमारे रिश्ते 70-80 के दशक की तरह ही है। हम उनसे बिना बंदूक के मिलते थे और उम्मीद है कि हम उनसे बिना बंदूक के मिलते रहेंगे। कश्मीरी लोगों के साथ हमारी बातचीत पहले की तरह सामान्य है। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने लद्दाख के पास स्कर्दू एयरबेस पर लड़ाकू विमान तैनात किए हैं। जानकारी अनुसार, शनिवार को उसने तीन सी-130 मालवाहक विमान यहां भेजे थे। इनमें लड़ाकू विमानों के उपकरण लाए गए। वहीं, भारत-पाकिस्तान से लगी सीमा पर कड़ी नजर रख रहा है।

संभावना जताई जा रही है कि पाकिस्तान इस एयरबेस पर जेएफ-17 लड़ाकू विमान तैनात कर सकता है। भारत सरकार के सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान की हरकतों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। वायुसेना और सेना को खुफिया विभाग ने विमानों की तैनाती के बारे में अलर्ट भेजा है। स्कर्दू पाकिस्तान का एक फॉरवर्ड ऑपरेटिंग बेस है। वह इसका इस्तेमाल सीमा पर सेना के ऑपरेशन को समर्थन देने के लिए करता है। सूत्रों की मानें तो पाक वायुसेना यहां अभ्यास करने की योजना बना रही है। यही कारण है कि वह अपने विमान यहां ला रही है।


Like it? Share with your friends!

-2

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

काश्मीर में अमित शाह 15 अगस्त को फहराएंगे झंडा, लेकिन पाक की इस ना’पाक हर’कत तो देखिये

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in
Bitnami