सामने आई एक बड़ी खबर के अनुसार दो गुटों के बीच हि’सं’क झ’ड़’प में 37 लोगों की मौ’त हो गई। जबकि इस दौरान हुई हिं’सा में 200 से अधिक लोग घायल हो गए।

यह घटना पूर्वी सूडान की है। जहां के बानी आमेर जनजाति और नुबा जनजाति के बीच पिछले हफ्ते झ’ड़’प हुई थी। यह हिं’सा किस बात पर भ’ड़’की यह जानकारी नहीं दी गई है। घटना के जांच के आदेश दे दिए गए हैं। देश की नव-गठित संप्रभु परिषद ने रविवार को राज्यपाल को बर्खास्त कर दिया।

बता दें कि अफ्रीकी देश सूडान में इससे पहले भी हिं’सा भड़की थी। इसमें प्रदर्शनकारियों पर सेना की कार्रवाई में 100 से ज्यादा लोग मा’रे गए थे। उस वक्‍त लोग राजधानी खार्तूम में सत्तारूढ़ सैन्य शासकों के खिलाफ सेना मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। सूडान के राजनीतिक हालात बेहद ख’रा’ब हैं जिसे देखते हुए संयुक्‍त राष्‍ट्र और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को खार्तूम से निकालने की बात कह चुके हैं।

बता दें कि 30 साल सत्ता में रहने वाले राष्ट्रपति उमर-अल-बशीर को सेना ने हटा दिया था। इसको लेकर सेना के मुख्यालय के बाहर भारी प्रदर्शन हुए थे। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि निष्पक्ष चुनवा कराने के लिए ज्यादा वक्त मिलना चाहिए। लोगों का यह भी कहना है कि देश में नागरिक शासन को तेजी से लागू किया जाए। लोग मांग कर रहे हैं कि सेना की केवल सीमित भागीदारी हो। वहीं पूर्वी सूडान में कबीलाई गुटों के बीच अक्‍सर झ’ड़’पें भी देखने को मिलती हैं, जिनमें कई लोगों की जान जा चुकी है।

Ravi Shekhar

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *