बिहार सरकार ने एक बड़ी पहले की जिसके कारण सड़क दुर्घटना से मारे जाने वाले लोगों की संख्या में कमी आ सकती है। इस मामले में बिहार परिवहन विभाग के तरफ से एक बड़ा फैसला लिया गया है। जिसके तहत अब सड़क दुर्घटना में घायल हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाने वाले को एम्बुलेंस किराया दिया जायेगा। सरकार किराये की राशि एम्बुलेंस चालकों को सड़क सुरक्षा निधि से देगी।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सड़क दुर्घटना के बाद समय पर अस्पताल नहीं पहुँच पाने के वजह से सबसे अधिक मृत्यु हुई हैं। इस मामले देश में बिहार का स्थान सबसे आगे हैं। आंकड़ों के अनुसार सड़क दुर्घटना के बाद बिहार में 72 फीसदी लोगों की मृत्यु हो जा रही है। जबकि देश के अन्य राज्यों में यह आंकड़ा कम है।
केरल में 10.8 फीसदी, कर्नाटक में  27 फीसदी, तमिलनाडु में 18.4 फीसदी, मध्यप्रदेश में 22 फीसदी और उत्तर प्रदेश में 53 फीसदी लोगों की जान सड़क दुर्घटना के  बाद समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाने के वजह से चली जाती है। बिहार में वर्ष 2019 में 10007 सड़क दुर्घटनाओं में 7205 लोग मारे गए।
इन आंकड़ों को देखते हुए बिहार परिवहन विभाग अब अलर्ट मोड आ गया है। इसीलिए घायलों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने को लेकर जागरूकता लाने के लिए नई पहल की गई है। ताकि घायल व्यक्ति को अविलंब अस्पताल पहुंचाया जाय। विभाग के निर्णय के अनुसार जो कोई भी एम्बुलेंस ड्राइवर सड़क दुर्घटना में घायल शख्स को नजदीकी या आसपास के अस्पताल में पहुचायेगा उसे निर्धारित किराया दिया जाएगा।
 

Ravi Shekhar

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *