प्रदेश के सबसे बड़े व पुराने अस्पताल के लिए नासूर बन चुकी पार्किंग की समस्या एक वर्ष में खत्म हो जाएगी। इसके लिए यहां दस मंजिला कार पार्किंग निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। सोमवार को अधीक्षक आवास के सामने बने कर्मचारियों के आवास तोड़कर खाली हुई जगह पर इसका शिलान्यास किया गया। पूजन के अवसर पर प्राचार्य डा. विद्यापति चौधरी और बीएमएसआइसीएल में इंफ्रास्ट्रक्चर के जनरल मैनेजर संजीव रंजन, पवन कुमार व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।
 
700 वाहन हो सकेंगे एक साथ खड़े :
संजीव रंजन ने बताया कि दस मंजिला पार्किंग में एक साथ करीब सात सौ वाहन खड़े हो सकेंगे। इससे पीएमसीएच के डाक्टरों, कर्मचारियों, एंबुलेंस और मरीजों को काफी सहूलियत होगी। इसके अलावा परिसर में यहां-वहां वाहन नहीं खड़े होने से मरीजों व उनके स्वजन को आवागमन में आसानी होगी।
 
 
 
दूसरी पार्किंग अशोक राजपथ एलिवेटेड रोड से जुड़ेगी, मिलेगी राहत
 
पीएमसीएच के अशोक राजपथ द्वार के पास बाद में एक और मल्टीपल स्टोरी पार्किंग का निर्माण किया जाएगा। यह अशोक राजपथ एलिवेटेड रोड से जुड़ी होगी। इससे कारगिल चौक से एलिवेटेड रोड से आने वाले लोग सीधे पीएमसीएच परिसर स्थित पार्किंग और यहां से वापस अपने गंतव्य पर जा सकेंगे। पीएमसीएच में समय के साथ वाहनों की संख्या तो बढ़ी लेकिन उनके पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं की गई। नतीजा, मुख्य इमरजेंसी के सामने राजेंद्र सर्जिकल ब्लाक, टाटा वार्ड, प्राचार्य और अधीक्षक कार्यालय के अलावा शिश व स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग के आसपास वाहनों और एंबुलेंस की कतार लगी रहती है। इस कारण अक्सर यहां जाम की स्थिति बन जाती है।

Digital Desk

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *