बिहार ने केंद्र सरकार से बैकवर्ड रीजन ग्रांट फंड (बीआरजीएफ) मद में बकाया राशि में से 490 करोड़ की मांग की है, ताकि राज्य में पांच और नए बिजली ग्रिडों का निर्माण हो सके।

नीति आयोग को भेजा प्रस्ताव

बिजली कंपनी द्वारा बीते दिनों ही औरंगाबाद जिले के दाउदनगर और नवीनगर, गया जिले के भोरे और बाराचट्टी के अलावा बगहा में ग्रिड बनाने का निर्णय लिया और इसके लिए 132/33 केवी की क्षमता के ट्रांसमिशन ग्रिड का प्रस्ताव कंपनी ने नीति आयोग को भेजा। इस पर नीति आयोग ने ग्रिड बनाने के लिए दावा की गई राशि 490 करोड़ के समर्थन में आवश्यक दस्तावेजों की मांग की। इस पर बिहार सरकार ने दुबारा केंद्र सरकार को पत्र लिखकर ग्रिड से संबंधित पूरी जानकारी मुहैया कराई।

इन जिलों को होगा लाभ

इन ग्रिडों के निर्माण से गया, औरंगाबाद, पश्चिमी चम्पारण के अलावा आसपास के जिलों को भी लाभ होगा। अभी इन जिलों में ट्रांसमिशन ग्रिड अधिक दूरी पर है। ऐसे में जब बिजली आपूर्ति व्यवस्था में कोई खराबी आती है तो न केवल ये जिले बल्कि इससे सटे आसपास के जिलों में भी उसका असर होता है। इन पांचों ग्रिडों के निर्माण से बिजली आपूर्ति व्यवस्था और बेहतर हो जाएगी।

Aadya Bharti

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *