बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने राजधानी पटना सहित राज्य के प्रमुख शहरों से देश के अन्य राज्यों के लिए बसों का परिचालन करने का निर्णय लिया है और इसके लिए कार्ययोजना भी बना ली है। कुछ रूटों पर बसों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। बसों की संख्या और रूट का निर्धारण मौजूदा वित्तीय वर्ष में ही कर लिया जाएगा ताकि अगले साल से बसों का परिचालन शुरू हो जाए।

इन जगहों के लिए शुरू होगी सेवा

जानकारी के अनुसार पटना सहित राज्य के कई प्रमुख शहरों से अभी देश के अन्य राज्यों के लिए बसें नहीं चल रही हैं। अगर चल भी रही है तो उसकी संख्या काफी कम है। जबकि कई रूट ऐसे हैं जहां यात्रियों की संख्या अधिक देखी जा रही है। इसी के मद्देनजर निगम ने पिछले दिनों एक आकलन किया था। उसमें पाया गया कि पटना के अलावा राजगीर, बोधगया, दरभंगा, सहरसा, बक्सर, औरंगाबाद, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीवान, गोपालगंज, भोजपुर, सासाराम आदि जिलों से और बसें चलाने की आवश्यकता है। इसमें विशेषकर छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तरप्रदेश, दिल्ली, झारखंड आदि राज्यों के लिए और बस चलाने की जरूरत महसूस की गई है।

बसों की संख्या होगी 200 से अधिक

अब इसी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है कि पटना सहित राज्य के अन्य प्रमुख शहरों से देश के अन्य राज्यों के लिए बसें चलाई जाएंगी। खबरों की मानें तो इसकी संख्या 200 से अधिक हो सकती है। निगम की ओर से जल्द ही आवेदन आमंत्रित किया जाएगा। निगम निजी बस मालिकों को चयनित रूटों पर बस चलाने की अनुमति देगा। रूट के साथ ही बसों की संख्या भी तय की जाएंगी। अधिकारियों के अनुसार

वॉल्वो बसों का भी परिचालन होगा

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की कोशिश है कि राज्य के सभी प्रमुख शहरों से लोगों को बस की सुविधा मिले। चलाई जाने वाली बसें सामान्य के अलावा वातानुकूलित श्रेणी की भी होंगी। कुछ रूटों पर वॉल्वो बसों का भी परिचालन होगा ताकि लोग आरामदेह सफर कर सकें।
उम्मीद है नए साल में बिहारवासियों को इन नई बस सेवाओं की सौगात भी जल्द ही मिल जाये , जिससे यात्रियों का सफर सुगम और आरामदायक हो जाये।

Aadya Bharti

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *