देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का प्रकोप कम होने की बजाय तेजी से बढ़ता जा रहा है. इस बीच दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने बताया है कि दिल्ली में 31 जुलाई तक सभी स्कूल बंद रहेंगे. उन्होंने बताया कि दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के शिक्षकों तथा अभिभावकों से सुझाव मिलने पर इसमें बढ़ोतरी की गई है.

राजधानी दिल्ली में स्कूलों को खोले जाने की बात की जा रही है. इसे लेकर दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री  मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को उच्च स्तरीय बैठक की. इस बैठक में राजधानी में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के कारण बिगड़ हालातों के मद्देनजर 31 जुलाई तक सभी स्कूलों को बंद रखने की सहमति बनी.


 
उन्होंने बताया कि दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के शिक्षकों तथा बच्चों के अभिभावकों से भी सुझाव लिया गया था. इसके बाद उनके सुझावों पर विचार किया गया. सिसोदिया ने जानकारी दी कि प्राथमिक कक्षाओं को लेकर अभिभावकों और शिक्षकों की तरफ से सुझाव आया था कि 12 से 15 स्टूडेंट की सप्ताह में एक या दो क्लास लगाई जाए
 
सिसोदिया ने जानकारी दी कि कक्षा 3 से 5 तक के बच्चों को वैकल्पिक दिन में पढ़ाने का सुझाव आया. वहीं कक्षा 6 से 8 तक के छात्रों को सप्ताह में एक या दो दिन पढ़ाने का सुझाव आया. छात्रों की ऑनलाइन क्लासेस को लेकर भी अभिभावकों की ओर से सुझाव आए. इसके अलावा कक्षा 9 तथा 10 के छात्रों को सप्ताह में 1 या 2 दिन पढ़ाने का सुझाव आया. जबकि 11वीं और 12वीं के छात्रों को वैकल्पिक दिनों में पढ़ाने तथा बाकि दिनों में ऑनलाइन शिक्षा का सुझाव आया

akhandindia

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *