आईएएस बनने के लिए लाखों युवा अपना पूरा जीवन समर्पित कर देते हैं कुछ को सफलता प्राप्त होती है तो वहीं कुछ असफल हो जाते है। जिस आईएएस पद के लिए युवा अपना पूरा जीवन समर्पित कर देते हैं, उस नौकरी को पाकर एक युवा उसे ठुकरा देता है। और अपने खुद के दम पर एक कंपनी खड़ा कर बन जाता है ,14 हजार करोड़ की कंपनी का मालिक। हम बात कर रहे हैं, देश के सबसे युवा आईएसओ में से एक रोमन सैनी के बारे में। आइए उनकी कहानी से रूबरू होते हैं।
रोमन सैनी शुरू से ही मेधावी छात्र थे। उनकी सफलता का एक उदाहरण यह है कि उन्होंने महज 16 साल की उम्र में एम्स में परीक्षा पास कर, दाखिला पा लिया था। ऐसा करने वाले देश के पहले युवा हैं, जिस उम्र में बच्चे खेलते हैं। उस उम्र में सैनी ने रिसर्च पेपर लिख दिया था।

MBBS की पढ़ाई खत्म करने के बाद सैनी को नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर मैं नौकरी मिला था, लेकिन 6 महीना काम करने के बाद रोमन ने इसे भी छोड़ दिया। और फिर देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा यूपीएससी की तैयारी करने लगे। यहां भी सैनी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए, महज 22 साल की उम्र में यूपीएससी क्रेक कर आईएएस अधिकारी बन गए।
सैनी की पहली पोस्टिंग मध्यप्रदेश में हुई। लेकिन यहां भी उनका मन नहीं लगा और आईएस की नौकरी ठुकरा उन्होंने अपने मित्र के साथ विद्यार्थियों के लिए कुछ करने की ठानी। आज उनकी कंपनी Unacademy के नाम से जानी जाती है, जहां रोजाना लाखों बच्चे विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं। इसके पीछे का कारण सैनी बताते हैं, कि कोचिंग क्लासेस में लाखों रुपए लग जाते हैं‌। इसी को देखते हुए सैनी ने यह प्लेटफार्म को छात्रों के बीच लाया जो आज काफी पॉपुलर है।

इसकी शुरुआत सैनी ने अपने दोस्त के साथ साल 2010 में एक यूट्यूब चैनल के रूप में की थी। आज Unacedemy में रोजाना 18 हजार शिक्षक पढ़ाते हैं इंडिया का टॉप मोस्ट एजुकेशन प्लेटफार्म है। कंपनी की वैल्यू आज की तारीख में तकरीबन 15 हजार करोड़ के आसपास है। 5 करोड़ से भी ज्यादा इस प्लेटफार्म से एक्टिव स्टूडेंट जुड़े हैं।

Digital Desk

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *