छपरा के मशरक के विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में दोषी महाराजगंज के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह और उनके छोटे भाई दीनानाथ सिंह को लेकर बड़ा आदेश जारी किया गया है. जिसके तहत अब उन्हें हजारीबाग के जयप्रकाश नारायण सेंट्रल जेल से घाघीडीह सेंट्रल जेल भेजा जाएगा. गुरुवार को इस संबंध में घाघीडीह जेल प्रबंधन को जानकारी दे दी गई है. जेल प्रशासन ने सुरक्षा कारणों से इस बात का खुलासा नहीं किया है कि प्रभुनाथ सिंह व दीनानाथ सिंह को किस दिन हजारीबाग से जमशेदपुर शिफ्ट किया जाएगा.

1995 के विधानसभा चुनाव में छपरा के मशरक सीट पर राजद प्रत्याशी अशोक सिंह ने तत्कालीन विधायक प्रभुनाथ सिंह को हरा दिया था. विधायक बनने के कुछ माह बाद अशोक सिंह की उनके पटना स्थित आवास पर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में प्रभुनाथ सिंह, दीनानाथ सिंह सहित कई लोगों को आरोपी बनाया गया था. सुरक्षा कारणों से इस मामले की सुनवाई पटना के बाहर हजारीबाग न्यायालय में की गई थी. न्यायालय ने प्रभुनाथ सिंह, दीनानाथ सिंह सहित कई लोगों को सजा सुनाई है.

मालूम हो कि प्रभुनाथ सिंह मशरक से तीन बार विधायक व महाराजगंज से चार बार सांसद रहे हैं. उनके एक और छोटे भाई केदारनाथ सिंह छपरा के बनियापुर से विधायक हैं. पिछले दिनों हजारीबाग स्थित जय प्रकाश नारायण सेंट्रल जेल में प्रशासन ने छापामारी की थी। छापामारी के दौरान प्रभुनाथ सिंह व उनके भाई के सेल से करीब 80 हजार रुपए, चार मोबाइल, एक डायरी व अन्य कागजात जब्त किए गए थे.
इनपुट:DBC

Digital Desk

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *