इस भीषण मंहगाई के बीच रेलवे अपने यात्रियों पर फिर चार्ज में इजाफा का चाबुक चला सकता है. इसको लेकर रेलवे एक बड़ी तैयारी में लगा है. बता दें कि रिजर्वेशन बोगी की निचली सीट जिसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है. सबसे आरामदायक मानेजाने वाले इस सीट लिए रेलवे एक्स्ट्रा चार्ज बसूल सकता है.

इतना ही नहीं अगर आप अपने घर-परिवार से दूर रहते हैं और पर्व-त्योहार में घर जाते हैं तो उसके लिए भी आपको अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी. जी हां, रेलवे की किराया समीक्षा समिति ने ये सिफारिशें की हैं. अगर रेलवे बोर्ड इन सिफारिशों को स्वीकार की जाती है तो रेल यात्रियों को नीचे की बर्थ या त्योहारी मौसम में टिकट बुक कराने पर एक्स्ट्रा चार्ज देना होगा.

प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी किराया प्रणाली की समीक्षा के लिए गठित समिति ने सुझाव दिया है कि रेलवे को एयरलाइंस और होटलों की तरह डायनैमिक प्राइसिंग मॉडल अपनाना चाहिए. समिति का तर्क है कि जिस तरह से विमान में यात्रियों को आगे की लाइन की सीटों के लिए अधिक भुगतान करना पड़ता है, उसी तरह ट्रेनों में भी यात्रियों से उनकी पसंद की बर्थ के लिए अधिक किराया वसूला जाना चाहिए. समिति का यह भी सुझाव है कि सुविधाजनक समय सारिणी और किसी खास रूट विशेष मार्ग पर लोकप्रिय ट्रेनों का किराया बढ़ाया जा सकता है.

Digital Desk

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *