भारत धीरे धीरे हथियारों की आयात को कम करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. अब इस बात को पुख्ता करने का समय आ गया है कि हम अगली लड़ाई अपने देश में बने हथियारों के दम पर लड़ें. यह बात भारतीय थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने दिल्ली में आयोजित एक सेमिनार में कही है.

मालूम हो कि केंद्र मोदी सरकार आने के बाद से हथियारों के निर्माण को लेकर कई कदम उठाए गए हैं. कई कंपनियों से इस बात के समझौते किए गए हैं कि वह अपने उत्पादों का निर्माण भारत में ही करेंगी. सरकार ने हथियारों को देश में ही विकसित करने को काम को अपनी महत्वाकांक्षी योजना ‘मेक इन इंडिया’ से भी जोड़ा है. हाल ही में देश की ऑर्डिनेंस फैक्टिरियों के ऑर्डर को भी मंजूरी दी गई है.

बता दें कि जनरल रावत अपने बेबाक बयानों के लिए भी जाने जाते हैं. कुछ दिन पहले ही उन्होंने पाकिस्तान को भी लताड़ा है. भारत के साथ शांति वार्ता का समर्थन करने वाले पाकिस्तानी सेना प्रमुख के बयान के बाद भारतीय थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तानी सेना को आड़े हाथों लिया है. जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तानी सेना की कार्रवाई से ऐसा नहीं लगता कि पाकिस्तान भारत के साथ शांति चाहता है.

Digital Desk

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *