भागलपुर के किसानों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है । अब भागलपुर के किसान बाग बगीचों में ओल, अदरक और हल्दी की भी खेती कर सकते हैं । जी हां अब इन चीजों की खेती कर किसान दोगुना लाभ कमा सकते हैं । साथ ही इसकी खेती के लिए उद्यान विभाग भी किसानों की मदद करेगा और सरकार की तरफ से 50% तक अनुदान भी मिलेगा । जानकारी के लिए बता दे किसके लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा । ऑनलाइन आवेदन करने के बाद दिसंबर से अनुदान मिलना शुरू हो जाएगा । मालूम हो कि जो पहले आवेदन करेगा उसे पहले अनुदान मिलेगा ।

किसानों को मिलेगा अनुदान

बता दें कि जिले में 200 हेक्टेयर में हल्दी की खेती होनी है और एक किसान को कम से कम 36 हेक्टेयर में खेती करनी होगी । एक किसान को अधिकतम दो यूनिट का ही लाभ मिल सकता है । औसतन एक यूनिट की खेती में किसानों को ₹22300 की लागत आएगी और सरकार की ओर से किसान को ₹11150 मिलेगा । वही बात करें ओल की खेती की तो 50 हेक्टेयर में ओल की खेती का लक्ष्य निर्धारित किया गया है । मालूम हो कि एक किसान न्यूनतम 90 डिसमिल की खेती कर सकता है । और ओल की एक यूनिट की खेती के लिए किसानों को औसतन ₹82000 की लागत आएगी जिसमें से ₹41000 किसान को सरकार की ओर से मिलेगा । साथ ही 30 हेक्टेयर में अदरक की खेती होगी ।एक यूनिट की खेती के लिए किसान को ₹76000 लागत आएगी इसमें से सरकार की ओर से ₹38000 अनुदान मिलेगा ।

 60% जमीन खाली

मालूम हो कि भागलपुर में 40% जमीन पर आम और लीची के पेड़ लगे हैं और बाकी 60% जमीन खाली रहती है । ऐसे में खाली पड़ी जमीन पर ओल, अदरक और हल्दी की खेती से किसानों को लाभ होगा साथ ही इन फसलों को धूप कम मिलने पर उत्पादन पर भी असर नहीं पड़ेगा । बता दे कि अंर्तवर्ती फसल योजना 12 जिलों में लागू किया गया है, जिसमें भागलपुर भी है।

Aadya Bharti

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *